Only Hindi News Today



पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर


कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें

तिर्वा (कन्नौज)। पशुओं को छुट्टा छोड़ने वालों की अब आसानी से पहचान हो सकेगी। पशुओं को ईयर टैग लगाए जा रहे हैं, उसमें दर्ज बारह अंकों के यूनीक कोर्ड से पशु के ब्योरा के साथ मालिक की पहचान भी दर्ज होगी। क्षेत्र में 10,829 पशुओं को यूनीक कोड वाले इयर टैग लगाए जा चुके हैं।
डिप्टी सीवीओ डा.संजय शाल्या ने बताया कि प्रत्येक पशु की ईयर टैगिंग की जा रही है। टैग पर 12 अंकों का यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर दिया जा रहा है। यह पशु का आधार कार्ड नंबर है, जिसमें पशुओं से जुड़ी सभी जानकारियां होंगी। एक अक्तूबर से ईयर टैगिंग के लिए टीमों को गांवों में भेजा जा रहा है।
ईयर टैगिंग के लिए पशु पालकों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। डा. संजय ने बताया कि ईयर टैगिंग से प्रधानमंत्री क्रेडिट कार्ड योजना से 1,60,000 तक कर्ज लेने में आसानी होगी। राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना में चयनित ग्रामों में टैग लगे पशुओं का निशुल्क कृत्रिम गर्भाधान किया जाएगा। पशु की मौत पर बीमा क्लेम मिलने में आसानी हो जाएगी।

तिर्वा (कन्नौज)। पशुओं को छुट्टा छोड़ने वालों की अब आसानी से पहचान हो सकेगी। पशुओं को ईयर टैग लगाए जा रहे हैं, उसमें दर्ज बारह अंकों के यूनीक कोर्ड से पशु के ब्योरा के साथ मालिक की पहचान भी दर्ज होगी। क्षेत्र में 10,829 पशुओं को यूनीक कोड वाले इयर टैग लगाए जा चुके हैं।

डिप्टी सीवीओ डा.संजय शाल्या ने बताया कि प्रत्येक पशु की ईयर टैगिंग की जा रही है। टैग पर 12 अंकों का यूनिक आईडेंटिफिकेशन नंबर दिया जा रहा है। यह पशु का आधार कार्ड नंबर है, जिसमें पशुओं से जुड़ी सभी जानकारियां होंगी। एक अक्तूबर से ईयर टैगिंग के लिए टीमों को गांवों में भेजा जा रहा है।

ईयर टैगिंग के लिए पशु पालकों से कोई शुल्क नहीं लिया जाएगा। डा. संजय ने बताया कि ईयर टैगिंग से प्रधानमंत्री क्रेडिट कार्ड योजना से 1,60,000 तक कर्ज लेने में आसानी होगी। राष्ट्रीय गोकुल मिशन योजना में चयनित ग्रामों में टैग लगे पशुओं का निशुल्क कृत्रिम गर्भाधान किया जाएगा। पशु की मौत पर बीमा क्लेम मिलने में आसानी हो जाएगी।

Source link

Leave a Reply