Only Hindi News Today

शारजाह
चेन्नै सुपर किंग्स (CSK) के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी (Mahendra Singh Dhoni) ने इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) मुकाबले में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi Capitals) के खिलाफ शनिवार को यहां मैच गवांने के बाद कहा कि नाबाद शतकीय पारी खेलने वाले शिखर धवन का कैच कई बार टपकाना उनकी टीम को महंगा पड़ा। धवन की 58 गेंद में नाबाद 101 रन की पारी (Shikhar Dhawan Century) के दम पर दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने चेन्नै सुपर किंग्स (Chennai Super Kings) को पांच विकेट से हराया।

धोनी (Dhoni) ने मैच के बाद पुरस्कार समारोह में कहा कि ड्वेन ब्रावो (Bravo) चोटिल होने के कारण मैदान से बाहर चले गए थे जिसकी वजह से आखिरी ओवर में रविंद्र जडेजा (Ravindra Jadeja) से गेंदबाजी करवनी पड़ी।

धोनी (Dhoni) ने कहा, ‘ब्रावो फिट नहीं थे (Bravo was not fit), वह मैदान से बाहर गए और फिर वापस नहीं आए । मेरे पास जडेजा (Jadeja) या फिर कर्ण शर्मा (Karn Sharma) से गेंदबाजी कराने का विकल्प था। मैंने जडेजा को चुना।’

धोनी (Dhoni) ने कहा, ‘शिखर (Shikhar Dhawan) का विकेट काफी अहम था लेकिन हमने कई बार उनका कैच टपका दिया। उन्होंने बल्लेबाजी करना जारी रखा और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी अच्छा था। दूसरी पारी में विकेट भी थोड़ा आसान था। हम लेकिन धवन (Dhawan) से श्रेय वापस नहीं ले सकते है।’

धोनी ने कहा कि पिच के आसान होने के कारण स्थिति उनके लिए मुश्किल हो गई। उन्होंने कहा, ‘पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के 10 रन कम बने जबकि बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 10 रन अधिक बनाए।’

मैन ऑफ द मैच धवन (Dhawan) ने कहा कि आईपीएल के 13 साल के इतिहास में पहली बार शतक लगाना शानदार रहा। उन्होंने कहा, ‘यह बेहद ही खास है कि 13 साल से आईपीएल (IPL) खेल रहा हूं और यह मेरी पहली शतकीय पारी है। मैं काफी खुश हूं। सत्र की शुरूआत से मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं लेकिन 20 रन के स्कोर को 50 रन में नहीं बदल पा रहा था।’

उन्होंने कहा, ’मैं मानसिक तौर पर सकारात्मक था, और रन बनाने की कोशिश कर रहा था। मैं अब पहले से ज्यादा फिट (Dhawan Fitness) हूं। मैं तेज दौड़ रहा हूं और तारोताजा महसूस कर रहा हूं।’

दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर (Shreyas Iyer) ने कहा कि उन्हें पता था कि अगर धवन (Dhawan) आखिर तक क्रीज पर रहे तो टीम जीत दर्ज करेगी। उन्होंने कहा, ‘मैं ड्रेसिंग रूम में बैठा था और नर्वस था। मुझे पता था कि अगर धवन (Dhawan) आखिर तक क्रीज पर रहेंगे तो हम जीतेंगे।’

उन्होंने आखिरी ओवर में तीन छक्के लगाने वाले अक्षर पटेल (Axar Patel) की तारीफ की। अय्यर ने कहा, ‘अक्षर ने जिस तरह से मैदान पर उतरने के बाद तीन छक्के लगाए (Axar Patel hit 3 Sixes) वह शानदार था। हम जब ड्रेसिंग रूम मैन ऑफ द मैच देंगे तो यह खिताब उन्हें ही मिलेगा।’

अक्षर ने पांच गेंद में तीन छक्कों की मदद से नाबाद 21 रन बनाने के अलावा किफायती गेंदबाजी भी की थी। उन्होंने चार ओवर में सिर्फ 23 रन दिए।

Source link

Leave a Reply