Only Hindi News Today

अमेरिका में मुख्य रूप से बिहार, झारखंड और पूर्वी उत्तर प्रदेश के भारतीय-अमेरिकियों ने सूर्य भगवान की पूजा कर छठ पर्व मनाया। ऐतिहासिक पोटोमैक नदी, न्यू जर्सी में झील और मकानों में बने अस्थायी जलाशयों समेत देशभर में विभिन्न जलाशयों पर समुदाय के सदस्यों ने कोविड-19 वैश्विक महामारी के मद्देनजर सामाजिक दूरी के नियम का पालन सुनिश्चित करते हुए छठ पूजा की।

यूं मनाया गय छठ

सैकड़ों भारतीय-अमेरिकी श्रद्धालुओं ने शुक्रवार को सूर्यास्त और शनिवार को सूर्योदय की पूजा समेत त्योहार से जुड़े सभी कार्यक्रम जूम और अन्य सोशल मीडिया मंचों पर देखे। छठ मुख्य रूप से बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश में मनाया जाने वाला प्राचीन हिंदू त्योहार है। इस दौरान लोग व्रत रखते हैं, नदियों में स्नान करते हैं और सूर्य भगवान की पूजा करते है। चार दिन तक मनाया जाने वाला यह त्योहार शनिवार सुबह समाप्त हुआ।

सोशल डिस्टेंसिंग का भी पालन

भारतीय-अमेरिकी कृपा सिंह ने कहा, ‘पोटोमैक नदी में एक समय पर 25 लोग ही मौजूद रहे और परिवार के सदस्यों ने एक दूसरे से सामाजिक दूरी बनाए रखी। छठ पूजा को देखने के लिए परिसर पर आए लोगों ने भी दूरी बनाए रखी।’ पेशे से सॉफ्टवेयर इंजिनियर सिंह अपनी पत्नी अनीता के साथ 2006 से वाशिंगटन डीसी के वर्जिनिया उपनगर में पोटोमैक नदी के किनारे छठ पूजा मनाते आ रहे हैं।

ऑनलाइन हुआ ब्रॉडकास्ट

सिंह ने बताया कि खरना से लेकर सुबह अर्घ्य देने तक का पूरा कार्यक्रम उन लोगों के लिए जूम और फेसबुक पर प्रसारित किया गया जो महामारी के कारण इसमें शामिल नहीं हो पाए। इसे भारत और नेपाल में रह रहे उनके परिवारों के लिए भी प्रसारित किया गया। ‘बिहार झारखंड असोसिएशन ऑफ नॉर्थ अमेरिका’ ने लगातार चौथे साल न्यूजर्सी के मोनरे स्थित थॉमसन पार्क में छठ पूजा मनाई। इस समारोह में न्यूयॉर्क में भारत के महावाणिज्यदूत, रणधीर जायसवाल और उप महावाणिज्यदूत शत्रुघ्न सिन्हा भी शामिल हुए। पेनसिल्वेनिया, फ्लोरिडा और टेक्सास में भी छठ पूजा मनाई गई।

अमेरिका में यूं मनाया गया छठ का त्योहार

Source link

Leave a Reply