Only Hindi News Today

सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के नवचयनित जूनियर इंजीनियरों को नियुक्ति एवं पद स्थापना पत्र वितरित समारोह में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिला अभ्यर्थियों में टॉपर एवं ओवर आल रैकिंग में 24 वे स्थान पर रहने वाली संध्या कन्नौजिया से बात की। गोरखपुर के अधियारीबाग कॉलोनी की निवासी संध्या से सीएम योगी आदित्यनाथ ने पूछा कि,’आपने लोक सेवा आयोग में धमकी तो नहीं दिया था?  मैं मुख्यमंत्री के जनपद से हूं मेरा सिलेक्शन हो जाना चाहिए?’ सीएम के इस सवाल पर सभी हंस पड़े लेकिन संध्या ने संजीदगी के साथ कहा, ‘नहीं सर! ‘

सीएम योगी आदित्यनाथ ने बिना लाग लपेट अगला सवाल दागा। ‘सिफारिश की आवश्यकता तो नहीं पड़ी ना? किसी ने पैसे की मांग तो नहीं की थी?’ संध्या ने बेधड़क जवाब दिया। ‘ नहीं सर, बहुत ही निष्पक्ष तरीके से भर्ती हुई। अपने मनपसंद के जिले में जाने का अवसर भी मिला।’ कलेक्ट्रेट स्थित एनआईसी सभागार में मुख्य विकास अधिकारी इंद्रजीत सिंह के साथ बैठी संध्या के जवाब से सीएम के चेहरे पर मुस्कॉन दौड़ गई। अनुसूचित जाति से आने वाली संध्या कन्नौजिया के जवाब से प्रभावित मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बोल उठे।’बहुत सुंदर, सबसे पहले आपको और आपके परिवार को बधाई देता हूं कि अपनी मेहनत से उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के द्वारा निष्पक्ष ढंग से आयोजित परीक्षा में चयनित होकर महिलाओं में सर्वोच्च स्थान पाया। टोटल रैकिंग में भी 24वें स्थान पर आई। यह आपकी बड़ी उपलब्धि है। धनतेरत के दिन यह उपलब्धि आपको मिली है, जिसकी बधाई देता हूं। ‘ संध्या ने भी सीएम योगी आदित्यनाथ ने कोटि-कोटि आभार व्यक्त किया। सीएम संध्या से पुन: पूछा,’आप बताईए कि आप लोग ठीक ढंग से काम करेंगे, निष्ठा, निष्पक्षता के साथ सेवाएं देंगे? इसी प्रकार का माहौल पूरे विभाग को देंगे?’ संध्या ने सीएम को विश्वास दिलाया।’सर बिल्कुल देंगे, जिस निष्पक्ष तरीके से हमें नौकरी मिली है, उससे प्रेरणा मिलती है कि हम ईमानदारी के साथ अपने दायित्व एवं कार्यो का निवर्हन करें। आपके गाइडेंस में जो भी दायित्व दिया जाएगा, उसको हम निष्पक्षता के साथ पूर्ण करेंगे।’

यूपी सीएम योगी ने UPPSC जेई भर्ती के टॉपर से पूछा कोई जुगाड़ तो नहीं लगाया, जानें क्या आया जवाब

पिता पनीर और खोए की चलाते हैं शॉप मॉ गृहणी
अधियारीबाग निवासी संध्या के पिता प्रेम कुमार कन्नौजिया पनीर और खोए की छोटी सी शॉप संचालित करते हैं। मॉ शांति देवी गृहणी हैं। प्रेम की दो बेटिया संध्या और पूजा हैं जिनकी पढ़ाई के लिए उन्होंने काफी संघर्ष किया। संध्या ने 2013 में राजकीय पॉलिटेक्निक गोरखपुर से सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा करने के बाद नौकरी के लिए तैयारी में जुट गई। उधर छोटी बहन पूजा का एमएमएमयूटी में मैकेनिकल इंजीनियरिंग में सलेक्शन हो गया। पूजा फिलहाल अंतिम वर्ष में हैं। आर्थिक दिक्कतों के बीच प्रेम कुमार अपने बच्चों की इस उपलब्धि के लिए ईश्वर और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार व्यक्त करते हैं। कहते हैं कि निष्पक्ष भर्ती नहीं होती तो उनकी बेटी का सलेक्शन शायद ही हो पाता। 

Source link

Leave a Reply