Only Hindi News Today

कोरोना महामारी में सुरक्षा चिंताओं के बीच, लोग अपने पसंदीदा फूड को ऑनलाइन ऑर्डर कर रहे हैं. स्विगी के सर्वे में यह बात सामने आई है. कंपनी की स्टेटिस्टिक्स: द क्वेंटाइन एडिशन, नाम से जारी रिपोर्ट के अनुसार, कोरोनोवायरस के कारण लगे लॉकडाउन के दौरान बिरयानी के लिए 5.5 लाख से अधिक ऑर्डर दिए गए हैं,  इसके बाद बटर नान और मसाला डोसा का नंबर है.

चोको लावा केक और गुलाब जामुन भी खूब मंगवाए

सभी जानते हैं कि मिठाई के बिना एक शानदार भोजन कभी पूरा नहीं होता है. इस सर्वे में भी यह बात साबित हो रही है.  इस दौरान 1,29,000 चोको लावा केक ऑर्डर दिए गए हैं, इसके बाद गुलाब जामुन और बटरस्कॉच मूस केक का नंबर आता है.

रात 8 बजे तक 65,000 ऑर्डर

सर्वे में यह बात सामने आई कि डिनर के समय तक भोजन पहुचं जाए, यह सुनिश्चित करने के लिए हर दिन रात 8 बजे तक 65,000 मील ऑर्डर दिए गए थे. औसतन, कस्टमर्स ने 23.65 रु टिप दी जबकि एक कस्टमर ने 2,500 रु की टिप दी.  ऑनलाइन सेलिब्रेशन के दौर में लगभग 1,20,000 केक ऑर्डर किए गए थे.

ग्रोसरी के ऑर्डर भी मिले

कूक्ड फूड मंगवाने के अलावा जो लोग घर पर खाना बना रहे थे , उन्होंने स्विगी से ग्रोसरी भी मंगवाई.  रिपोर्ट के अनुसार इसमें लगभग 323 मिलियन किलोग्राम प्याज और 56 मिलियन किलोग्राम केला डिलीवर किया गया. लॉकडाउन के दौरान इंस्टेंट नूडल्स के लगभग 3,50,000 पैकेट भी ऑर्डर किए गए थे.

दूसरी ओर, स्विगी जिनी ने स्कूलों को देश भर में हजारों अभिभावकों तक किताबें पहुंचाने में मदद की, जबकि इसके होप, नॉट हंगर इनिशिएटिव ने इस अवधि के दौरान 10 करोड़ रुपये अधिक जुटाए और इससे जरूरतमंद लोगों को 30 मील सर्व किए.

ऐसे समय में जब हैंड हाइजीन और फेस मास्क हमारे जीवन का एक अभिन्न हिस्सा बन गए हैं. स्विगी ने 73,000 बोतलें हैंड वॉश और सैनिटाइज़र के साथ 47,000 फेस मास्क भी डिलीवर किए

यह भी पढ़ें-

राहुल गांधी का BJP पर बड़ा हमला, बोले- सरकारें जनता के बहुमत से बनती हैं, राज्यपाल को सत्र बुलाना चाहिए

फिंगर 4 से पीछे हटने के लिए तैयार नहीं हैं चीनी सैनिक, पैंगोंग-त्सो लेक के करीब तैनात की तोपें

Source link

Leave a Reply