Only Hindi News Today

  • Hindi News
  • International
  • Forcibly Converted Hindu Girl To Marriage, The Family Drove Away When The Family Came To Get An FIR

अमृतसर2 महीने पहलेलेखक: रविंदर सिंह रॉबिन

  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में एक हिंदू लड़की राम बाई का जबरन धर्म परिवर्तन कर पहले से शादीशुदा मुस्लिम युवक से निकाह कराने की घटना सामने आई है।

  • राम बाई का धर्मांतरण पीर जान आगा खान सरहांदी धर्मस्थल पर उसकी मर्जी के खिलाफ किया गया
  • इससे पहले एक सिख लड़की जगजीत कौर उर्फ आयशा बीबी को लाहौर हाईकोर्ट ने उसके मुस्लिम पति के पास जाने का ऑर्डर दिया था

पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम लड़कों से शादी कराए जाने की घटनाएं बढ़ रही हैं। हाल ही में एक मामला सिंध प्रांत से सामने आया है जहां हिंदू लड़की राम बाई का जबरन धर्म परिवर्तन कर पहले से शादीशुदा मुस्लिम युवक से शादी करा दी गई।

इस पूरे मामले में एक सूफी धर्मस्थल की अहम भूमिका रही। इतना ही नहीं लड़कियों को अगवा करने वालों के खिलाफ यहां की पुलिस केस भी दर्ज नहीं कर रही है। यहां तक कि पाकिस्तान की अदालत भी इनके ही फेवर में फैसला दे रही है। इससे पहले एक सिख लड़की जगजीत कौर उर्फ आयशा बीबी को लाहौर हाईकोर्ट ने उसके मुस्लिम पति के पास जाने का ऑर्डर दिया था। जगजीत पिछले एक साल से शेल्टर होम में रह रही थीं।

साउथ कोरिया के सियोल के रहने वाले पाक राइट एक्टिविस्ट राहत ऑस्टिन ने बताया कि राम बाई पाकिस्तान के सिंध प्रांत के मीरपुर खास जिले के जान मुहम्मद मारी की रहने वाली है, जिसका जबरन धर्म बदलकर एक मुस्लिम से शादी करा दी गई।

राम बाई की शादी 19 अगस्त को मोहम्मद अब्दुल्लाह से कराई गई। वह पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं।

राम बाई की शादी 19 अगस्त को मोहम्मद अब्दुल्लाह से कराई गई। वह पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं।

राम बाई का धर्मांतरण पीर जान आगा खान सरहांदी धर्मस्थल पर उसकी मर्जी के खिलाफ किया गया। परिवार वालों ने इसका विरोध किया और थाना में शिकायत करने के लिए पहुंचे लेकिन पुलिस ने शिकायत दर्ज करने के बजाय उन्हें भगा दिया।

वे कहते हैं कि हाल के वर्षों में इस तरह की कई घटनाएं हुईं हैं। कई हिन्दू लड़कियों का जबरन धर्म परिवर्तन पीर जान आगा खान सरहांदी में किया गया है। राहत ने बताया कि राम बाई की शादी 19 अगस्त को मोहम्मद अब्दुल्लाह से कराई गई। वह पहले से शादीशुदा है और उसके बच्चे भी हैं। इतना ही नहीं लड़की से एक एफिडेविट पर साइन भी कराया गया। जिसमें उससे लिखवाया गया कि उसने अपनी मर्जी से शादी की है।

पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों से एफिडेविट पर लिखवाया जा रहा है कि वह अपनी मर्जी से शादी कर रही हैं और धर्म परिवर्तन कर रही हैं ताकि कोई कानूनी पेंच न हो।

पाकिस्तान में हिंदू लड़कियों से एफिडेविट पर लिखवाया जा रहा है कि वह अपनी मर्जी से शादी कर रही हैं और धर्म परिवर्तन कर रही हैं ताकि कोई कानूनी पेंच न हो।

वे कहते हैं कि असहाय लड़कियों से इसलिए साइन करवाया जा रहा है ताकि भविष्य में कोई कानूनी दिक्कतों का सामना नहीं करना पड़े। राहत कहते हैं कि अब यह कॉमन तरीका हो गया है। हिंदू और माइनॉरिटी लड़कियों से जबरन शादी करने वाले मुसलमान अब यही तरकीब अपना रहे हैं।

सूत्रों के मुताबिक कई धर्मगुरु जो हिन्दू और क्रिश्चियन लड़कियों का धर्म परिवर्तन कराते हैं वे अक्सर उन लड़कियों का यौन शोषण करते हैं। वे उन्हें परिवार और पुलिस के पास भेजने के बजाय वे अगवा करने वालों को आश्रय देते हैं।

यह भी पढ़ें :

1. कहानी पाकिस्तान की सिख लड़की की / एक साल शेल्टर होम में गुजारा, इसके बावजूद हारना पड़ा, जिस लड़के ने अपहरण किया अब उसी का घर होगा जगजीत कौर का ससुराल

2. कराची में आस्था पर हमला / पाकिस्तान में 80 साल पुराना हनुमान मंदिर तोड़ा, 20 हिंदुओं के घर भी जमींदोज; लोकल एडमिनिस्ट्रेशन बिल्डर के साथ

Source link

Leave a Reply