Only Hindi News Today

Health Tips: अधिकतर लोगों का मानना हैं कि धूम्रपान स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होता है. इससे कैंसर और फेफड़ों के खराब होने का खतरा बना रहता है. पर क्या आप जानते हैं कि धूम्रपान की लत आपको अंधा बना सकती है. इससे आपके खून में निकोटिन की मात्रा बढ़ जाती है. जिससे आंखों का लाल होना, धुंधला दिखाई देना, आंखों की रोशनी कम होना और आंखों में जलन होने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं. जो रेटीना के लिए खतरनाक है. साथ ही इसका असर शरीर के अन्य कई अंगों पर भी पड़ता है. तो आइए हम आपको बताते हैं कि धूम्रपान कैसे आपकी आंखों को प्रभावित कर सकता हैं.

मोतियाबिंद होने की संभावना

धूम्रपान से आंखों की कई समस्याएं हो सकती हैं जिसमें मोतियाबिंद है. तंबाकू के संपर्क में आने वाले लोगों में दूसरों के मुकाबले मोतियाबिंद होने का खतरा अधिक पाया जाता है. इसी तरह न्यूक्लियर और पोस्टियर पोलर किस्म के कैटरेक्ट भी इन्हीं लोगों को छोटी उम्र से ही होने लगते हैं.

खून में निकोटिन का स्तर बढ़ जाना

बीड़ी, सिगरेट और गुटखे में निकोटिन से भरपूर तंबाकू पाया जाता है. जिसका आपके शरीर पर बुरा प्रभाव पड़ता है. लंबे समय तक धूम्रपान करने वालों की आंखों में जलन होना सामान्य होता है. अगर समय रहते इसे बंद नहीं किया गया तो यह आपकी रेटिना को नुकसान पहुंचा सकता है. हाई ब्लड प्रेशर और डयबिटीज के रोगियों को धूम्रपान बिल्कुल भी नहीं करना चाहिए.

आंखों की नमी कम हो जाती है

धूम्रपान करने वालों की आंखों को तंबाकू के जहरीले धुएं में मौजूद रसायनों से हानि हो सकती है. इसके धुएं में मौजूद कार्बन पार्टिकल्स पलकों पर जमा हो सकते हैं. जिसके कारण आंखों की नमी और गीलापन खत्म हो सकता है. अगर यह लंबे समय तक बना रहे तो आंखों में खुजली होती है और नजर में धुंधलापन हो सकता है. इससे आंखों की रोशनी भी जा सकती है.

Chanakya Niti: धनवान बनना है तो चाणक्य की इन बातों को जीवन में उतार लें, जानिए आज की चाणक्य नीति

Source link

Leave a Reply