Only Hindi News Today

नई दिल्ली14 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सर्विस कंपनी का ऑपरेटिंग रेवेन्यू  8.5% बढ़कर 24,570 करोड़ रुपए रहा

  • कंपनी 1 जनवरी से हर लेवल पर वेतन बढ़ाएगी और प्रमोशन देगी
  • हर शेयर पर 12 रुपए का अंतरिम लाभांश देगी कंपनी

इंफोसिस ने बुधवार को कहा कि सितंबर तिमाही में उसे 4,845 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ हुआ। यह पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले 20.5 फीसदी और इस साल जून तिमाही के मुकाबले 14.45 फीसदी ज्यादा है। देश की दूसरी सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सर्विस कंपनी ने इस कारोबारी साल के लिए अपना आय अनुमान कांस्टैंट करेंसी में बढ़ाकर 2-3 फीसदी कर दिया है, जिसे पहले उसने 2 फीसदी तक रखा था। इस कारोबारी साल के लिए कंपनी ने ऑपरेटिंग मार्जिन का अनुमान भी बढ़ाकर 23-24 फीसदी कर दिया।

कंपनी को पिछले साल की समान अवधि में 4,019 करोड़ रुपए का नेट प्रॉफिट हुआ था। बेंगलुरु की कंपनी का ऑपरेटिंग रेवेन्यू इस दौरान 8.5 फीसदी बढ़कर 24,570 करोड़ रुपए रहा, जो सितंबर 2019 तिमाही में 22,629 करोड़ रुपए था। कंपनी ने कहा कि वह हर लेवल पर वेतन बढ़ोतरी और प्रमोशन लागू करेगा, जो 1 जनवरी से प्रभावी होगा।

डिजिटल ऑफरिंग्स का रेवेन्यू ग्रोथ 25.4 फीसदी रहा

इंफोसिस के सीईओ और एमडी सलिल पारेख ने कहा कि हमारी डिजिटल और क्लाउड क्षमता हमें बाजार में अलग परफॉर्मेंस हासिल करने में मदद कर रही है। साल-दर-साल आधार पर हमारो ओवरऑल रेवेन्यू ग्रोथ 2.2 फीसदी रहा, जबकि डिजिटल ऑफरिंग्स का रेवेन्यू ग्रोथ 25.4 फीसदी रहा। डिजिटल रेवेन्यू की हिस्सेदारी अब हमारे कुल रेवेन्यू में 47.3 फीसदी पर पहुंच गई।

फ्री कैश फ्लो बढ़ा

कंपनी ने प्रति शेयर 12 रुपए के लाभांश की घोषणा की है। सीएफओ नीलांजन रॉय ने कहा कि इस कारोबारी साल की पहली छमाही में फ्री कैश फ्लो में भारी बढ़ोतरी हुई। इसलिए हम अंतरिम लाभांश को 50 फीसदी बढ़ाकर 12 रुपए कर रहे हैं। लाभांश के लिए रिकॉर्ड डेट 26 अक्टूबर 2020 और पेमेंट डेट 11 नवंबर 2020 होगा।

100% वैरिएबल पे और विशेष प्रोत्साहन दे रही है कंपनी

कंपनी ने कहा कि दूसरी तिमाही के लिए वह 100 फीसदी वैरिएबल पे और विशेष प्रोत्साहन दे रही है। सीओओ प्रवीण राव ने कहा कि कंपनी सभी लेवल पर वेतन बढ़ाएगी आौर प्रमोशन देगी। यह 1 जनवरी से प्रभावी होगा। कंपनी के शेयर बीएसई पर 1.89 फीसदी गिरकर 1,136.10 रुपए पर बंद हुए।

इंफोसिस का रिजल्ट अन्य सॉफ्टवेयर कंपनियों से बेहतर

एक सप्ताह पहले देश की सबसे बड़ी सॉफ्टवेयर सेवा प्रदाता कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने सितंबर तिमाही में रेवेन्यू 3 फीसदी बढ़ने की बात कही थी। टीसीएस ने 40,135 करोड़ रुपए का रेवेन्यू दर्ज किया। अन्य प्रमुख सॉफ्टवेयर कंपनी विप्रो का रेवेन्यू इस दौरान 15,114.5 करोड़ रुपए रहा, जो पिछले साल की समान अवधि के मुकाबले लगभग बराबर है। एचसीएल टेक्नोलॉजी अपना रिजल्ट 16 अक्टूबर को जारी करेगी।

Source link

Leave a Reply