Only Hindi News Today

रेटिंग एजेंसी मूडीज ने वर्ष 2020 के लिए भारत की जीडीपी वृद्धि दर के अपने अनुमान को बढ़ा दिया है। मूडीज इन्वेस्टर्स सर्विस ने इस साल के लिए भारत के आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान बढ़ाकर नकारात्मक 8.9 फीसदी कर दिया है। मूडीज ने पहले यह अनुमान नकारात्मक 9.6 फीसदी पर रखा था। इसके अलावा मूडीज ने आने वाले वर्ष 2021 के लिए भारत की जीडीपी ग्रोथ के लिए अपने अनुमान को 8.1 फीसदी से बढ़ाकर 8.6 फीसदी कर दिया है। एजेंसी ने गुरुवार को अपनी ग्लोबल मैक्रो आउटलुक 2021-22 रिपोर्ट में यह जानकारी दी है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने भी इसका जिक्र करते हुए कहा है कि मूडीज ने भारत की रेटिंग में सुधार किया है। यह संकेत है कि भारतीय अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है। भारत के अनुमान को बढ़ाते हुए मूडीज ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के नए मामले में कमी आने के बाद देश में आवागमन के प्रतिबंधों को कम किया जा रहा है। भारत में नए संक्रमण का दर पांच फीसदी से भी नीचे चला गया है। मूडीज ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यही कारण है कि आने वाली तिमाहियो में हम आर्थिक गतिविधियों में और भी तेजी की उम्मीद कर रहे हैं। हालांकि, कमजोर वित्तीय सेक्टर की वजह से क्रेडिट देने की सुविधा में सुस्ती से रिकवरी की रफ्तार पर असर पड़ेगा। इस रिपोर्ट में मूडीज इन्वेस्टर्स ​सर्विस ने कहा कि आगे भी वैश्विक स्तर पर आर्थिक ग्रोथ का अनुमान इस बात पर निर्भर करेगा कि कोरोना महामारी पर कैसे लगाम लगाया जा रहा है। हालांकि, मूडीज ने यह भी कहा कि आने वाले समय में इसे बेहतर होने की ही उम्मीद है। गौरतलब है कि साल 2020 में कोरोना वायरस महामारी और इसके संक्रमण को रोकने के लिए लागू किए गए लॉकडाउन के चलते भारतीय अर्थव्यवस्था को भारी नुकसान पहुंचा है। लॉकडाउन प्रतिबंधों में ढील के बाद अब कुछ महीनों से भारतीय अर्थव्यवस्था तेजी से रिकवर कर रही है।

Source link

Leave a Reply