Only Hindi News Today

आज शारदीय नवरात्रि 2020 का दूसरा दिन है। नवरात्रि के दूसरे दिन मां ब्रह्मचारिणी की विधि-विधान से पूजा और अराधना की जाती है। ब्रह्मचारिणी यानी ब्रह्मचर्य का पालन करने वाली देवी। मान्यता है कि मां ब्रह्मचारिणी भक्त की भक्ति से प्रसन्न होकर सदाचार, धैर्य, संयम, एकाग्रता और सहनशीलता का आशीर्वाद देती हैं।

मां ब्रह्मचारिणी का कैसा है स्वरूप-

ब्रह्म का अर्थ होता है तपस्या और चारिणी का अर्थ होता है- आचरण करने वाली। यानी तप का आचरण करने वाली। मां ब्रह्मचारिणी के दाएं हाथ में जप माला और बाएं हाथ में कमंडल सुशोभित है। 

ऐसे करें मां ब्रह्मचारिणी की पूजा-

मान्यता है कि मां ब्रह्मचारिणी को श्वेत रंग प्रिय है। इसलिए माता की पूजा के दौरान सफेद रंग के वस्त्र पहनना शुभ माना जाता है। मां को सफेद वस्तुएं जैसे शक्कर, मिश्री या पंचामृत का भोग लगाएं। मां ब्रह्मचारिणी का आशीर्वाद पाने के लिए दुर्गा सप्तशती का पाठ करना चाहिए।

Navratri 2020 Wishes: मां ब्रह्मचारिणी की पूजा आज, माता की भक्ति से भरपूर इन SMS से दें अपनों को बधाई

शारदीय नवरात्रि द्वितीया तिथि-

17 अक्टूबर रात 9 बजकर 8 मिनट प्रारंभ होकर 18 अक्टूबर शाम 5 बजकर 27 मिनट तक रहेगी।

मां ब्रह्मचारिणी का मंत्र-

नवरात्रि के दूसरे मां ब्रह्मचारिणी की पूजा के दौरान नीचे बताए गए मंत्र का जाप करने से माता का आशीर्वाद प्राप्त होता है-

दधाना करपद्माभ्यामक्षमालाकमण्डलू।
देवी प्रसीदतु मयि ब्रह्मचारिण्यनुत्तमा॥

मंत्र- ऊं ब्रह्मचारिण्यै नम:

 

Source link

Leave a Reply