X
    Categories: Top

RBI Kya Hai? जानिए RBI Ka Full Form और RBI Full Details in Hindi

लेख़ इसके बाद शुरु होगा।

अगर आप नहीं जानते कि RBI Kya Hai? तो हम आपको इस पोस्ट के माध्यम से RBI Full Details in Hindi देने वाले है और आपको इस पोस्ट में RBI Ka Full Form, RBI Full Form in Hindi और RBI Ka Kya Kaam Hai इसके बारे में भी संपूर्ण जानकारी प्राप्त होगी। तो इस पोस्ट को अंत तक ज़रूर पढ़े।

विषयों की सूची

Rbi Bank का नाम तो आपने सुना ही होगा Rbi जनता की सेवा के लिए हमेशा आगे रहती है। Rbi अपने कार्यों और नीतियों में जनता के हित और आम जनता की भलाई को बढ़ावा देने का प्रयास करता है, Rbi एक गतिशील संस्था बनने का भी प्रयास करता है।

Rbi से जुड़ी और भी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे R B I Ka Full Form, RBI Kya Hota Hai आज आप इस Post के Through जानेंगे।

आइए जाने…

Rbi Kya Hai (केंद्रीय बैंक क्‍या है)

आरबीआई का पूरा फॉर्म “भारतीय रिजर्व बैंक”

हिंदी में आरबीआई का फुल फॉर्म “भारतीय रिज़र्व बैंक” है।

आपके मन में भी कभी ना कभी यह ख्याल आया होगा की Bharat Ka Kendriya Bank Konsa Hai

तो आपकी जानकारी के लिए बता देते है की Rbi भारत का केंद्रीय Bank है। जो भारत के सभी बैंको का संचालन करता है। इसे बैंको का बैंक भी कहा जाता है। यह बैंक भारत की Economy को Control करता है। भारत की सारी मुद्रा का हिसाब Rbi के पास ही रहता है।

Rbi मुद्रा छापने का काम करती है तथा मुद्रा पहुँचाने का काम भी करती है। यह बैंक “Asian Clearing Union” का सदस्य है, आरबीआई को भारत का प्रधानमंत्री Control करता है, इसके देशभर में 29 ऑफ़िस है| भारतीय रिजर्व बैंक का पुराना नाम “The Imperial Bank Of India” (Ibi) था।

यह थी Rbi Ki Jankari दोस्तों बहुत ही कम लोगों को पता होता है की रिज़र्व बैंक कहाँ पर है।

Rbi Bank Kahan Hai

क्या आप जानते है Rbi Bank कहाँ पर स्थित है ?…

Rbi Ka Mukhyalay प्रारम्भ में कोलकाता में स्थापित किया गया था, जिसे 1937 में स्थायी रूप से मुंबई में स्थानांतरित किया गया, आरबीआई कार्यालय वह कार्यालय है जहाँ Governor बैठते है और जहाँ नीतियाँ निर्धारित की जाती है।

Bharatiya Reserve Bank Ki Sthapna Kab Hui

इतने बड़े बैंक की स्थापना कब हुई इस बात की जानकारी शायद ही किसी को पता हो लेकिन यह एक महत्वपूर्ण जानकारी है जो की सभी को पता होना चाहिए।

Reserve Bank Ki Sthapna 1 अप्रैल,1935 को हुई थी। Rbi Ki Sthapna में भारत के अर्थशास्त्री (Economist) बाबासाहेब आंबेडकर की अहम भूमिका रही हैं, उन्होंने भारतीय रिजर्व बैंक को बनाने में अपने दिशा-निर्देश प्रदान किये थे जिसके आधार पर ही भारतीय रिजर्व बैंक बनाया गया था।

Rbi की स्थापना कब हुई यह तो आपको पता चल गया लेकिन क्या आपको पता है Rbi Ka Rashtriyakaran Kab Hua तो दोस्तों 1 जनवरी 1949 में Rbi का राष्ट्रीय करण कर दिया गया था।

अब जानते है…

Rbi Ki Sthapna Kisne Ki Thi

यह तो बहुत ही जरुरी बात है की Rbi की स्थापना किसके द्वारा की गई।

ब्रिटिश राज ने आरबीआई की स्थापना की थी, ब्रिटिश राज के दौरान शुरू में यह निजी स्वामित्व वाला बैंक हुआ करता था लेकिन स्वतंत्र भारत में 1 जनवरी 1949 में इसका राष्ट्रीयकरण कर दिया गया, उसके बाद से इस पर भारत सरकार का पूर्ण स्वामित्व है।

Reserve Bank Ke Governor Kaun Hai

क्या आपको पता है आरबीआई के गवर्नर कौन है

वर्तमान में Rbi KE Governor शक्तिकांत दास है।

जिन्होंने 11 दिसम्बर 2018 को आरबीआई के नए गवर्नर का पद ग्रहण किया था, उर्जित पटेल की सेवानिवृत्ति के बाद इन्होनें यह पद ग्रहण किया।

शक्तिकांत दास वर्ष 2015 से 2017 तक आर्थिक मामलों (Economic Affairs) के सचिव पद पर रहे थे। Rbi Ke Governor Ka Karyakal 3 साल का होता है।

यह तो है भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर और Rbi Deputy Governor के बारे में जाने तो Reserve Bank में वर्तमान में तीन Deputy Governor हैं – एनएस विश्वनाथन, बीपी कानूनगो और एमके जैन और पात्रा Deputy Governor में चौथे स्थान पर होंगे।

भारतीय रिज़र्व बैंक के बारे में इतना जानने के बाद अब हम जानेंगे की यह बैंक किन कार्यों के लिए जाना जाता है।

Rbi Ke Karya (Functions Of Rbi)

आरबीआई के कार्य

Rbi Ke Mukhya Karya कुछ इस प्रकार है, जिनके बारे में हम आपको नीचे बता रहे है।

बैंकों का बैंक : Reserve Bank Of India अन्य वाणिज्यिक बैंकों (Commercial Banks) के लिए उसी तरह कार्य करता है जिस तरह से अन्य बैंक आमतौर पर अपने ग्राहकों के लिए कार्य करते हैं, यह Rbi Ke Pramukh Karya में आता है। Reserve Bank Of India देश के सभी वाणिज्यिक बैंकों को पैसा उधार देता है।

बैंंको के लिये ऋणदाता का कार्य : Rbi सभी अनुसूचित बैंकों के Bank Account रखता है और जरूरत पड़ने पर उनके लिये अंतिम ऋणदाता का कार्य भी करता है।

नोट जारी करना : Reserve Bank Of India को देश में नोट छापने का एकाधिकार प्राप्त है, लेकिन एक रूपए के नोट को छोड़कर सभी तरह के नोट ही जारी करने का अधिकार है, क्योंकि एक रूपए के नोट केवल वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किया जाता है। नोटों को जारी करने/छपाई के लिए Reserve Bank Of India, न्यूनतम रिजर्व प्रणाली (Minimum Reserve System) को अपनाता है।

विदेशी मुद्रा भंडार का संरक्षक : विदेशी विनिमय दर (Foreign Exchange Rate) को स्थिर रखने के उद्देश्य से Reserve Bank Of India विदेशी मुद्राओं को खरीदता और बेचता है और देश के विदेशी मुद्रा भंडार की सुरक्षा भी करता है, विदेशी विनिमय बाज़ार में जब विदेशी मुद्रा की आपूर्ति (Supplies) कम हो जाती है तो Reserve Bank Of India इस बाजार में विदेशी मुद्रा बेचता है जिससे कि इसकी आपूर्ति बढाई जा सके।

भारतीय सरकार का प्रतिनिधित्व : Reserve Bank Of India विश्व बैंक (World Bank) और आईएमएफ (Imf) में भारतीय सरकार का प्रतिनिधित्व करता है, यह क्रेडिट नियंत्रण और देश की मौद्रिक नीति को लागू करने के लिए जिम्मेदार है।

तो यह थे वो कार्य जो Rbi Bank द्वारा किये जाते है।

दोस्तों Rbi के कुछ ऐसे Interesting Facts है जो शायद ही आप जानते होगें आगे हम इसी के बारे में बात करने वाले है।

रुबी के बारे में रोचक तथ्य हिंदी में

आगे जो हम आपको Rbi की दिलचस्प जानकारी बता रहे है वो शायद ही पहले आपने कही सुनी या पढ़ी होगी।

तो चलिए देर ना करते हुए जानते है Rbi के रोचक तथ्य।

  • Rbi द्वारा सिर्फ Currency Note ही बनाए जाते है और सिक्कों को भारत सरकार द्वारा बनाया जाता है।
  • क्या आप जानते है Rbi Ka Purana Naam Kya Hai?.. आरबीआई का पुराना नाम “Imperial Bank Of India” था।
  • भारत में Financial Year (वित्तीय वर्ष) 1 अप्रैल से 31 मार्च होता है और Rbi का Financial Year 1 जुलाई से 30 जून होता है।
  • Rbi के Rule में यह शामिल है की अगर 1 रुपए से 20 रुपए तक का नोट 50% से कम फटा है तो बैंक द्वारा आपको पूरे पैसे दिए जाएँगे। लेकिन 50% से ज्यादा फटा होने पर बैंक से आपको कुछ नहीं मिलेगा।
  • Rbi द्वारा वर्ष 1938 में 5,000 और 10,000 भी छापे गए थे इसके बाद वर्ष 1954 और 1978 में भी इन नोटों को छापा गया था।
  • Rbi Ka Pratik Kya Hai – “ताड़ का पेड़ और बाघ” Rbi Ka Logo है।
  • भारतीय रिज़र्व बैंक 2 अन्य देशों के केंद्रीय बैंक के रूप में भी काम कर चुका है। 1947 तक म्यांमार और 1948 तक पाकिस्तान का केन्द्रीय बैंक भी रह चुका है।
  • भारत के पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह भी Rbi Ke Governor रह चुके है।
  • Rbi के इतिहास में 2 Governor ऐसे भी रह चुके है जिन्हें कभी नोटों पर Signature करने का मौका नहीं मिला और वो है – K G Ambegaonkar और Osborn Orkal Smith.

निष्कर्ष

दोस्तों यह थी Rbi की महत्वपूर्ण जानकारी जो आज आपने यहाँ Detail में जानी।

जिसमें आपने जाना …

  • Rbi क्या है और Rbi Bank कहाँ स्थित है।
  • भारतीय रिज़र्व बैंक की स्थापना कब हुई।
  • Reserve Bank की स्थापना किसने की।
  • वर्तमान में Rbi के Governor कौन है।
  • Rbi के कार्य क्या है।
  • साथ ही आपको Rbi से जुड़े Interesting Facts भी जानने को मिले।

तो दोस्तों कैसी लगी आपको यह जानकारी Comment Section में Comment करके बताए साथ ही आपके कोई सुझाव हो तो उन्हें भी Share करे।

इस Post को अपने दोस्तों के साथ Whatsapp, Instagram, Facebook पर ज़रुर Share करे जिससे की उन्हें भी इसकी जानकारी प्राप्त हो।

धन्यवाद दोस्तों।

योगदान देने वाला

क्या आपको एडिटोरियल टीम के आर्टिकल पसंद आयें? अभी फॉलो करें सोशल मीडिया पर!

Source: hindimebro.com/

Author: