Only Hindi News Today

देश भर में कोरोना महामारी के बीच हो रहे है अनलॉक के दौरान प्रॉपर्टी बाजार में भी काम रफ्तार के साथ शुरू होने लगा है। इस साल अप्रैल से जून के मुकाबले जुलाई से सितंबर तिमाही के बीच नए लॉन्च 58 फीसदी बढ़े हैं। ज्यादातर लॉन्च हैदराबाद और पुणे में हुए हैं और बिल्डरों का फोकस छोटे और खिफायती घर बनाने की तरफ बढ़ा है।प्रॉपर्टी से जुड़ी कंपनी प्रॉपटाइगर की रिसर्च के मुकाबले इस कैलेंडर इयर की तीसरी तिमाही में देश भर में करीब 20 हजार नई यूनिट लॉन्च की गई हैं। इनमें से करीब 45 फीसदी घर पुणे और हैदराबाद में ही लॉन्च हुए हैं।

घरों की बिक्री मे उछाल

रिपोर्ट में ये भी बताया गया है कि अब घर की खरीदारी में भी उछाल देखा गया है। अप्रैल-जून के मुकाबले जुलाई-सितंबर तिमाही में घरों की बिक्री 85 फीसदी बढ़ी है। इनमें से 53 फीसदी ग्रहाकों ने 2 बीएचके घर को ही खरीद के लिए चुना है। बिक्री के मामले में पुणे और मुंबई शहर अव्वल रहे हैं। कुल बिक्री के 56 फीसदी खरीदार इन्हीं दो शहरों के रहे हैं।

एनसीआर का हाल

हालांकि नए लॉन्च के मामले में एनसीआर काफी पीछे रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा और ग्रेटर नोएडा में नए लॉन्च नहीं हुए हैं। गुरुग्राम में सिर्फ सेक्टर 36 वाले इलाके में ही नए लॉन्च देखे गए हैं। यहां डेवलपर्स का फोकस सिर्फ 2 बीएचके और 3 बीएचके घर बनाने पर ज्यादा है। वहीं इसमें से छोटे घरों का हिस्सा करीब 60 फीसदी है। हालांकि गाजियाबाद के इलाके में लॉन्च होने वाले घरों की कीमत 75 लाख रुपए से ऊपर की है। यहां ज्यादातर 3 बीएचके घर लॉन्च हुए हैं। रिपोर्ट ममें एनसीआर, पुणे, मुंबई, हैदराबाद और चेन्नई समेत आठ बड़े शहरों के आंकड़ों का जिक्र किया गया है। इसमें से एनसीआर में सबसे ज्यादा करीब 58 फीसदी इंवेंट्री है जिसे बेचना बिल्डरों के लिए चुनौती है।

यह भी पढ़ें: चीन, पाकिस्तान समेत कई देशों ने शुरू की खाद्यान्न की जमाखोरी

कोरोना के दौरान भले ही हालात अब सकारात्मक दिखने शुरू हो गए हों लेकिन कारोबार अभी भी पिछले साल के मुकाबले बहुत पीछे है। जुलाई-सितंबर 2019 के मुकाबले 2020 की समान तिमाही में बिक्री 57 फीसदी तक गिरी है। प्रॉपटाइगर के ग्रुप सीओओ मणि रंगराजन के मुताबिक बदलते कामकाज के माहौल में अनुमान है कि वर्कफ्रॉम होम कल्चर लंबे समय तक जारी रहेगा ऐसे में छोटे घरों की मांग बरकरार रह सकती है।

Source link

Leave a Reply