Only Hindi News Today

वॉशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक इंटरव्यू में माना कि उन्हें अपने द्वारा किए गए कुछ ट्वीट को लेकर ‘अक्सर’ पछतावा होता है. ट्रंप ने बारस्टूल स्पोर्ट्स को दिए साक्षात्कार में कहा कि यह पुराने दिनों की तरह नहीं है जब लोग एक खत लिखते थे और इसे भेजने से पहले पूरा दिन अपने पास लिए बैठे रहते थे जिससे उन्हें इस पर फिर से सोचने का वक्त मिल जाता था.

उन्होंने कहा, “लेकिन टि्वटर के साथ ऐसा नहीं है. हम फौरन ही ट्वीट कर देते हैं, हम अच्छा महसूस करते हैं और फिर जब आपको फोन आने शुरू होते हैं, क्या आपने सच में यह कहा? ज्यादातर तो रीट्वीट्स मुश्किल में डाल देते हैं. आप ऐसा कुछ देखते हैं जो अच्छा लगता है और आप उसकी पड़ताल नहीं करते.”

दरअसल, हाल के महीनों में ट्रंप की ‘व्हाइट पावर’ और यहूदी विरोधी संदेशों वाले पोस्ट रीट्वीट करने के लिए आलोचना की गई थी.

कोरोना के लिए ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ प्रदर्शन को ठहराया जिम्मेदार

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी के लिए ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ प्रदर्शन को जिम्मेदार ठहराया है. 25 मई को एक अश्वेत शख्स जॉर्ज फ्लॉयड की पुलिस कस्टडी में हुई मौत के बाद अमेरिका भर में ‘ब्लैक लाइव्स मैटर’ के तहत विरोध प्रदर्शन शुरू हो गए. ट्रंप का कहना है पुलिस की बर्बरता और नस्लवाद के खिलाफ प्रदर्शन करने वाले युवा कोरोना मामलों में वृद्धि का कारण हैं, जो हाल के हफ्तों में देश भर के लगभग 30 राज्यों में देखा गया है.

उन्होंने कहा, “संक्रमण के मामलों में वृद्धि के संभवत: कई कारण हैं. प्रदर्शनों के तुरंत बाद युवा अमेरिकियों के बीच संक्रमण मामलों में वृद्धि शुरू हुई, जिसके बारे में आप अच्छी तरह से जानते हैं यह किस बारे में था. मेमोरियल डे जैसी छुट्टियों पर भीड़ बढ़ना और साथ ही युवाओं का बार और बीच और चार-पांच सूचीबद्ध जगहों पर जाना भी इसके मामलों में बढोतरी का कारण रहा है.”

ये भी पढ़ें-

Coronavirus Updates: दुनियाभर में कोरोना मामलों में रिकॉर्ड बढ़ोतरी, एक दिन में सबसे ज्यादा 2.88 लाख नए केस दर्ज

Source link

Leave a Reply