Only Hindi News Today

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गुरुवार को धनतेरस के पर्व पर 1438 जूनियर इंजीनियर को नियुक्ति पत्र देकर दीवाली का शानदार तोहफा दिया। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग से चयनित जूनियर इंजीनियर (सिविल) परीक्षा के माध्यम से सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के लिए 1,438  अभ्यर्थियों का चयन हुआ है। नियुक्ति पत्र वितरण कार्यक्रम से वर्चुअली जुड़े सफल अभ्यर्थियों से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संवाद किया। मुख्यमंत्री ने बारी-बारी से 10 अवर अभियंताओं से नियुक्ति प्रक्रिया के बारे में पूछा। टॉपर सीतापुर के आशुतोष सिंह से मुख्यमंत्री ने पूछा कि पूरी नियुक्ति प्रक्रिया में उन्होंने किसी तरह की सिफारिश या अन्य कोई जुगाड़ तो नहीं लगाया, इस पर आशुतोष ने ‘जुगाड़’ से इंकार किया और बताया कि पूरी चयन प्रक्रिया निष्पक्ष ढंग से हुई। वह बोले-उम्मीद नहीं थी बिना जुगाड़ नौकरी मिल जाएगी। धन्यवाद मुख्यमंत्री जी…।’ आशुतोष के यह कहते ही मुख्यमंत्री आवास का हाल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा।

मैं पूरी नौकरी में ईमानदारी से काम करूंगी : संध्या
महिला वर्ग में टॉपर गोरखपुर की संध्या कन्नौजिया ने मुख्यमंत्री को भरोसा दिलाया कि जिस तरह ईमानदारी और शुचिता के साथ उन्होंने नौकरी पाई है, पूरे सेवाकाल में वह स्वयं के कार्यव्यवहार में यही ईमानदारी बनाए रखेंगी। वाराणसी निवासी राजेश कुमार पटेल, जिन्हें मनचाहे जनपद सोनभद्र में तैनाती मिली है, ने पारदर्शी ढंग से नियुक्ति पाने पर मुख्यमंत्री के प्रति धन्यवाद दिया, तो ललितपुर में तैनाती पाने वाले झाँसी निवासी राजेश उपाध्याय से मुख्यमंत्री ने मनचाही नौकरी मनपसंद जिले में पाने पर बधाई दी। 

यूपी पुलिस भर्ती 2020 : 18912 पदों पर भर्ती प्रक्रिया शुरू, सबसे ज्यादा 9534 पद एसआई के

मेरठ निवासी राशिद अली ने मुख्यमंत्री को बताया कि शुचिता के साथ चयन और पदस्थापना में हमारी पसंद जानना अद्भुत है। कानपुर की कुसुम दुबे ने मुख्यमंत्री को बताया कि उन्हें मनपसंद जिले प्रयागराज में तैनाती मिली है। सिफारिश के बारे में पूछे जाने पर कुसुम ने कहा कहीं किसी से किसी भी तरह से जुगाड़ या सिफारिश की जरूरत नहीं पड़ी। सब कुछ पारदर्शी ढंग से हुआ है। प्रयागराज से राकेश कुमार सरोज को मुख्यमंत्री ने दीपपर्व की बधाई दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि शारीरिक रूप से दिव्यांग राकेश की सफ़लता लाखों युवाओं के लिए प्रेरणा बनेगी। राकेश ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में पारदर्शी चयन प्रक्रिया के लिए आभार ज्ञापित किया। बरेली निवासी उमेश और रामपुर के रहने वाले अजय कुमार ने अपने परिवार की ओर से मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। सहारनपुर निवासी राधे श्याम सैनी ने मुख्यमंत्री से बताया कि उनकी पहली नियुक्ति हरिद्वार में हुई है, यह उनके लिए अपार खुशी का अवसर है।

UPPCL JE भर्ती 2020: यूपीपीसीएल में जूनियर इंजीनियर की बंपर वैकेंसी, जानें योग्यता, सैलरी, चयन, परीक्षा समेत खास बातें

योगी सरकार ने 2054 इंजीनियरों की भर्ती की : डा. महेंद्र सिंह
जलशक्ति मंत्री डा. महेंद्र सिंह ने कहा है कि सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग में एक लम्बे अर्से से अवर अभियन्ताओं की भर्ती न हो पाने एवं कार्मिकों के लगातार सेवानिवृत्त होने के कारण बड़ी संख्या में जूनियर इंजीनियरों की कमी हो गई थी। विभाग के कार्य प्रभावित न हो इसके लिए सरकार द्वारा राज्य लोक सेवा आयोग द्वारा 1438 जूनियर इंजीनियरों का चयन किया गया। इसके पूर्व पिछले वर्ष 394 सहायक अभियन्ताओं और 149 सहायक अभियन्ता (यांत्रिक) की भर्ती भी विभाग में इसी प्रकार निष्पक्ष व पारदर्शी प्रकिया अपना कर लोक सेवा आयोग द्वारा की गई थी। महिला सशक्तीकरण अभियान को सार्थकता देते हुए दिसम्बर 2018 में 73 महिला जूनियर इंजीनियरों की विशेष भर्ती भी विभाग में की गई। जलशक्ति मंत्री ने नवचयनित अभ्यर्थियों को बधाई दी। अपर मुख्य सचिव, सिंचाई टी.वेंकटेश ने मुख्यमंत्री सहित सभी उपस्थित लोगों को चयन की शुचिता और पारदर्शिता के बारे में विधिवत जानकारी दी।

UPTET 2020 Exam Date : जानें कब होगी यूपी टीईटी परीक्षा, योगी सरकार ने दी एग्जाम कराने की अनुमति

मिली है मनचाही जगह पोस्टिंग
उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा सम्मिलित जूनियर इंजीनियर (सिविल) परीक्षा के माध्यम से सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग हेतु चयनित 1438 अभ्यर्थियों को मनचाहे जनपद में तैनाती मिली है। विभाग ने सफल अभ्यर्थियों को लखनऊ में आमंत्रित कर रिक्त पदों के पूरे विवरण से अवगत कराया गया और मेरिट के क्रम में उनकी पसंद के आधार पर तैनाती दी गई।

Source link

Leave a Reply