Only Hindi News Today

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मिशिगन और विस्कॉन्सिन में शनिवार को अपनी चुनावी रैलियों में अपने प्रतिद्वंद्वी जो बिडेन के अलावा वामदल पर जमकर निशाना साधा।

राष्ट्रपति ट्रंप ने दावा किया, डमोक्रेटिक पार्टी के उम्मीदवार बिडेन चीन के लिए काम करते हैं और वह अमेरिकी लोगों को खतरे में डालेंगे। जबकि मैंने चीन के खिलाफ अब तक की सबसे कठोर कार्रवाई की है। चुनाव के लिहाज से ट्रंप के लिए दोनों ही राज्य अहम हैं, क्योंकि 2016 में हुए राष्ट्रपति चुनाव में इन दो राज्यों ने ट्रंप की जीत में अहम भूमिका निभाई थी।

मिशिगन के मसकेगन में चुनावी रैली ट्रंप ने कहा, राष्ट्रपति चुनाव में अगर बिडेन जीते तो चीन अमेरिका को जीत लेगा। मैंने जितना काम 47 महीनों में किया, उतना बिडेन ने 47 साल में नहीं किया होगा। बिडेन चुनाव में अति वाम एजेंडे को आगे बढ़ा रहे हैं। उनकी योजना सामाजिक सुरक्षा को बर्बाद करने की है।

ट्रंप ने वामदल पर जीने के अमेरिकी तरीके को तबाह करने, देश के इतिहास को मिटाने और अमेरिकी मूल्यों को त्यागने का प्रयास करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि उदारवादियों का यह नैतिक कर्तव्य है कि वे रिपब्लिकन पार्टी में शामिल हों।

कोरोना वायरस को लेकर ट्रंप ने फिर से चीन पर निशाना साधा और इसे ‘चीनी वायरस’ करार दिया। वह पहले भी इस महामारी के लिए चीन को कोसते रहे हैं। ट्रंप ने दावा किया कि अमेरिका में कोरोना से होने वाली मौतों का आंकड़ा 22 लाख तक पहुंच सकता था, लेकिन उनकी सरकार ने लाखों लोगों की जिंदगियां बचाई।

मिशिगन रैली में ट्रंप समर्थक कोरोना महामारी से बेफिक्र दिखे। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ीं। ज्यादातर समर्थकों ने मास्क नहीं लगा रखा था। ट्रंप पर कोरोना महामारी को गंभीरता से नहीं लेने का आरोप शुरू से लगता रहा है। वह मास्क पहनने को लेकर भी मजाक उड़ाते रहे हैं।

कमला के नाम का गलत उच्चारण करने पर समर्थक नाराज

जॉर्जिया में एक चुनावी रैली में रिपब्लिकन पार्टी के सांसद डेविड परड्यू द्वारा उपराष्ट्रपति पद की डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रत्याशी कमला हैरिस का लगातार गलत नाम लेने से नाराज हैरिस समर्थकों ने ‘माय नेम इज’ और ‘आई स्टैंड विद कमला’ नाम से ऑनलाइन अभियान शुरू किया है।

दरअसल, परड्यू ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की उम्मीदवारी के समर्थन में हुई एक चुनावी रैली में हैरिस का लगातार गलत नाम लेकर मजाक उड़ाया था। परड्यू ने कहा था, ‘काह-मह-ला? कमला- मला-मला? पता नहीं क्या है। उनके यह कहते ही दर्शक हंसने लगे। 

संसद में अधिक संख्या में पहुंच सकते हैं भारतवंशी

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव के बाद संसद में भारतीय मूल के सांसदों की संख्या बढ़ सकती है। सांसद राजा कृष्णमूर्ति ने भारतवंशी सांसदों के अनौपचारिक समूह के लिए ‘समोसा कॉकस’ शब्द गढ़ा है।

इस समूह में पांच भारतीय-अमेरिकी सांसद हैं, जिनमें से चार प्रतिनिधिसभा के सदस्य हैं और एक अन्य सदस्य कमला हैरिस हैं, जो उच्च सदन सीनेट की सदस्य हैं।

उम्मीद जताई जा रही है कि प्रतिनिधिसभा में वरिष्ठ सदस्य डॉक्टर एमी बेरा, सांसद रो खन्ना और कृष्णमूति समेत प्रमिला जयपाल फिर से चुनाव जीत सकते हैं।

जयपाल इस सदन में पहली और एकमात्र भारतीय अमेरिकी महिला हैं। वह एरिजोना में छठे निर्वाचन क्षेत्र से रिपब्लिकन उम्मीदवार डेविड एस से कम मतों से आगे चल रही हैं। उनकी उम्मीदवारी का समर्थन राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन ने किया है।

Source link

Leave a Reply