Only Hindi News Today

नई दिल्ली:

बिहार में विधानसभा चुनाव सिर पर है और बिहार में गानों की बहार है. इनमें ज्यादातर गानें भोजपुरी हैं. आरोप-प्रत्यारोप सब सुरीले अंदाज में गानों के जरिए लगाया जा रहा है. कोई पूछ रहा है कि बिहार में है क्या? तो जवाब में बखान हो रहा है कि बिहार में क्या नहीं है? और ये बखान इतना ज्यादा हो रहा है कि लगा बिहार ने पिछले 15 सालों में ही अपना सबसे गौरवमयी काल देखा. जैसे बिहार में सब कुछ इन्हीं पंद्रह सालों में बना.

यह भी पढ़ें

और ऐसा ही एक ट्वीट भी आ गया आरजेडी की राबड़ी देवी की तरफ से.

लेकिन इस बखान के बाद सवाल पूछा गया कि बिहार में किया क्या गया है? पहले पूछा गया कि ‘बिहार में का बा?’इसके जवाब में गाना आया ‘बिहार में ई बा…’और इसके बाद पूछा गया कि ‘का किए हो?’

दिलचस्प ये है कि यूं तो बिहार में भोजपुर के अलावा की कई भाषाएं है, जैसे मगही, मैथली, अंगिका लेकिन इसके बावजूद गानों में बोलबाला केवल भोजपुरी का ही रहा है. अब आरजेडी ने भी अपना कैंपेन सॉन्ग लॉन्च कर दिया है ये भी भोजपुरी में ही है.

इसके साथ ही अब एक और गाना आया है जो मैथली में है. और इसे मैथिली ठाकुर ने गाया है. ये गाना बाकि भोजपुरी गानों के बीच इतना लोकप्रिय नहीं हुआ है लेकिन इस गाने के जरिए मैथिली ठाकुर मैथिली भाषा में बता रही हैं कि मिथिला में क्या क्या रहा है. मिथिला में क्या-क्या है, मिथिला में ये भी है और मिथिला में वो भी है.

इन तमाम गानों से चुनाव में जो हलचल लग रही है उससे क्या असर पड़ेगा चुनावी नतीजों पर और जनमानस पर ये आने वाले वक्त में ही पता चलेगा.



Source link

Leave a Reply